विश्व विजेता विश्वनाथन आनंद को अपना आदर्श मानने वाली बालिका शतरंज खिलाड़ियों ने ऑनलाइन शतरंज कि बिसात पर दिखाया दम

विश्व विजेता विश्वनाथन आनंद को अपना आदर्श मानने वाली बालिका शतरंज खिलाड़ियों ने ऑनलाइन शतरंज कि बिसात पर  दिखाया दम:
 
शतरंज:बचपन प्रतिभा के चमत्कार दिखाता है
 
प्रतिभा मनुष्य की आन्तरिक क्षमताओं की अभिव्यक्ति है। इन्सान की सारी उपलब्धियाँ इसी की देन हैं। जीवन एवं विश्व के व्यापक-विस्तार में आज हम जिस किसी वैभव एवं विभूतियों की चर्चा करते एवं कहते-सुनते हैं, वह सबका सब मानवीय प्रतिभा के विकास एवं परिष्कार को आयु से जोड़कर देखा जाता है। लेकिन प्रतिभाओं के संदर्भ में यही अन्तिम सत्य नहीं है। कुछ बालकों की विलक्षण प्रतिभा सत्य के दूसरे आयाम की ओर भी सोचने के लिए विवश करती है।
 
मात्र 6 वर्ष की आयु मैं फिडे रेटिंग हासिल करने वाली सुजेन ने यह कारनामा कर दिखाया
 
 
आसाम की मात्र 6 वर्षीय रेटेड खिलाड़ी सुजेन अहमद ने लिटिल एंजिल्स हाई स्कूल
एलएएचएस ग्वालियर के द्वारा ऑनलाइन खेली गई ऑल इंडिया ओपन बालिका शतरंज प्रतियोगिता में शानदार चालों का प्रदर्शन कर स्वर्ण पदक अपने नाम किया 
 
प्रतियोगिता में विजयी आगाज करने वाली मंगलडोई आसाम की सुजेन अहमद ने अपने खेल का लोहा मनवाने में कोई कमी नहीं छोड़ी ऑनलाइन देख रहे खेल प्रेमियों ने भी तालियों की गड़गड़ाहट के साथ प्रत्येक चाल पर उनका उत्साहवर्धन किया 
 
प्रतियोगिता में अपने से सीनियर खिलाड़ियों को मात देकर स्वर्ण पदक के नजदीक पहुंची सुजेन को उज्जैन कि स्वरा सूर्या से शिकस्त मिली  
 
सुजेन ने इसके बाद हुए मुकाबले में बदलापुर की ऋतुजा कांबले को बिना कोई मौका दिए स्वर्ण पदक के साथ ओवरऑल चैंपियन का खिताब अपने नाम किया 
 
प्रतियोगिता में 8 आयु वर्ग रखे गए थे जिसमें अंडर -7 ,अंडर - 9 ,अंडर-11, अंडर -13,
अंडर -15,अंडर -17,अंडर -19 और अंडर -25 प्रत्येक आयु वर्ग में प्रथम से द्वितीय स्थान प्राप्त खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया गया
 
 
खिलाड़ियों के परिणाम क्रमानुसार रहे
 
सुजेन अहमद (मंगलडोई आसाम )
बेठेल वी सिजो (केरला )स्वरा सूर्या (उज्जैन एमपी) भर्सिता सहारिया (मंगलदाई आसाम)
ए वी युठीगा (नेवैली तमिलाडु) चार्वी चौधुरी (गुवाहाटी आसाम) हर्षिका ककारिया (मुंबई महाराष्ट्र) सृष्टि हीप्पारागी ( सांगली महाराष्ट्र)
श्रृावानी खाड़ेपाटिल ( कोल्हापुर महाराष्ट्र)
वल्लभी गोयल (वाराणसी यूपी ) सिद्धी वानखेड़े ( पनवेल महाराष्ट्र) प्रिया यादव ( प्रयागराज यूपी) स्तुति सिंह (भागलपुर बिहार ) नवशीन कौर मल्होत्रा ( रायपुर छत्तीसगढ़ )
शिवानी आहूजा ( न्यू दिल्ली )
 
आयोजन सचिव और इंटरनेशनल शतरंज खिलाड़ी ऋषभ जैन ने बताया कि
 
इन बालिका खिलाडियों ने क्रमानुसार अपने -अपने आयु वर्ग में स्वर्ण पदक और रजत पदक जीता उल्लेखनीय है कि इस टूर्नामेंट में कई स्टेट चैंपियन और नेशनल चैंपियन खिलाड़ियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था

Share via Whatsapp

विज्ञापन

scroll top